Gautam buddha

  • “अज्ञानी आदमी एक बैल है.ज्ञान में नहीं है, वह आकार में बढ़ता है.”

 

  • “तीन  चीज़े लंबे समय तक छिप नहीं सकती, सूर्य, चंद्रमा, और सत्य”

 

  • “रास्ता आकाश में से  नहीं. रास्ता दिल में से  है.”

 

  • “मन सब कुछ है. जो तुम सोचते हो वो तुम बनते हो |”